एक बार आप भी पढ़ो बेशर्म आरएसएस के लोगों के उन्नाव की रेप पीड़िता पर बोल

इटावा, एकलव्य मानव संदेश ब्यूरो चीफ पंकज कुमार निषाद की रिपोर्ट, 14 अप्रैल 2018। मेरा मानना है कि आरएसएस वाले शादी इसलिये नहीं करते कि दूसरो कि मां वहन को गाली दे सकें और बलत्कार कर सकें।
एक तरफ उन्नाव में रेप पीडिता के पिता को पीट-पीट कर मार दिया जाता है, वहीं दूसरी तरफ मोहन भागवत बलत्कार से पीडित लडकी को "बुडिया के साथ कोई बलत्कार करता है, न विवाह करता है" ऐसै ट्वीट करते हैं।
वहीं बलिया जनपद के बैरिया विधानसभा क्षेत्र से विधायक सुरेन्द्र सिंह बलत्कार पीडिता को तीन बच्चो की बताता है।
इन्है बलत्कार का मतलब ही पता नहीं है। इनकी खुद की बेटी के साथ ऐसा होता तो क्या ये अपनी बेटी को भी तीन बच्चो की मां और वृद्धा बताते।