एसपी ट्रैफिक ने एक दिन में काटे 64 पुलिसकर्मियों के चालान की वजह जानें

मीरगंज, बरेली (Bareli), एकलव्य मानव संदेश (Eklavya Manav Sandesh) रिपोर्टर राज कुमार कश्यप की रिपोर्ट, 10 मई 2018। बरेली जनपद में 9 मई को एसपी ट्रैफिक ने एक दिन में काट दिए 64 पुलिसकर्मियों के चालान, वजह जानकर रह जाएंगे आप हैरान रह गए। एडीजी प्रेमप्रकाश की सख्त हिदायत के बाद भी बार-बार नियम तोड़ने पर पुलिसकर्मियों को करना पड़ सकता है विभागीय कार्रवाई का सामना।
    दूसरों को नियमों का पाठ पढ़ाने वाली पुलिस अक्सर खुद ही नियम तोड़ती नजर आती है, लेकिन अब पुलिसकर्मियों को भी यातायात नियमों का पालन करना पड़ेगा। एडीजी प्रेमप्रकाश के आदेश पर यातायात नियमों की धज्जियां उड़ाने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ भी कार्रवाई शुरू हो गई है। बगैर हेलमेट लगाकर बाइक चलाने वाले और तीन सवारी फर्राटा भरने वाले पुलिसकर्मियों के भी चालान काटे जा रहे हैं। एडीजी के आदेश पर खुद एसपी ट्रैफ़िक ने खड़े होकर पुलिसकर्मियों के चालान काटे। इस दौरान 64 पुलिसकर्मियों के चालानकटे गए।
      एडीजी के आदेश पर एसपी ट्रैफिक कमलेश बहादुर ने पुलिस लाइन के गेट पर वाहन चेकिंग अभियान चलाया और नियम तोड़ने वाले पुलिसकर्मियों का भी चालान काटने के बाद पुलिसकर्मियों को हिदायत दी कि बगैर हेलमेट लगाए कोई भी पुलिसकर्मी पुलिस लाइन से बाहर नहीं निकलेगा। 
     पहले दिन 64 पुलिसकर्मियों का चालान काटे गया और 3400 रूपये शमन शुल्क वसूला गया। नियम तोड़ने वाले पुलिसकर्मियों में महिला कांस्टेबल भी शामिल रहीं और उनका भी चालान किया गया।
हेलमेट के बगैर अब पुलिस ऑफिस में भी प्रवेश नहीं मिलेगा। इस आदेश का कड़ाई से पालन कराने के लिए एसएसपी ऑफिस के गेट पर ट्रैफिक पुलिस को तैनात किया गया है। पुलिस ऑफिस के गेट पर चेकिंग के दौरान बगैर हेलमेट लगाए आए पुलिसकर्मी अंदर प्रवेश नहीं कर पाए और वो दूर से ही निकल लिए।
        आम तौर पर पुलिसकर्मियों का चालान नहीं कटता है, लेकिन पुलिस को पुलिस के ही चालान काटते देख लोग हैरान रह गए। पूरे दिन पुलिस का ये अभियान चर्चा का विषय बना रहा।
     एडीजी प्रेमप्रकाश का कहना है कि पहले पुलिस खुद क़ानून का पालन करें, उसके बाद दूसरे को क़ानून का पालन कराने के लिए प्रेरित करें। यातायात नियमों का पालन न करने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई जारी रहेगी। बार बार नियम तोड़ने वालों को विभागीय कार्रवाई का भी सामना करना पड़ सकता है।