जौनपुर जिला निषाद पार्टी के कार्यकर्ताओं द्वारा अनुसूचित जाति का प्रमाण पत्र जारी करने के संदर्भ में तहसीलदार को सौंपा ज्ञापन

जौनपुर, एकलव्य मानव संदेश ब्यूरो चीफ प्रदीप कुमार निषाद की रिपोर्ट, 01-05-2018। आज 1 मई 2018 दिन मंगलवार समय 12:00 बजे तहसील कार्यालय के समक्ष निषाद पार्टी के कार्यकर्ताओं ने जिला कमेटी के नेतृत्व में भारी संख्या में विशाल धरना प्रदर्शन के उपरांत आरक्षण संबंधित 6 फरवरी 2018 को दिए गए ज्ञापन पर कार्यवाही हेतु एक ज्ञापन तहसील दिवस पर तहसीलदार को सौंपा। जिसमें मछुआ समुदाय के समस्त पर्यायवाची जातियों को शासनादेश दिनांक 21-12- 2016 में 22-12-2016 को अनुसूचित जाति के रूप में परिभाषित कर सुविधा देना आदेशित है। 31-12-2016 के शासनादेशानुसार मछुआ समुदाय की सभी जातियों कहार, कश्यप, केवट, मल्लाह, निषाद, कुम्हार, भर, राजभर, धीमर, धीवर, बिन्द, बाथम, तुरहा, गोड़िया, मांझी, मछुआ आदि को ओबीसी की सूची से निकालकर सभी को अनुसूचित जाति का सुविधा देने का सभी विभागों को आदेशित है। माननीय हाईकोर्ट के आदेश अनुसार सभी को अनुसूचित जाति का प्रमाण पत्र जारी करने का आदेश दिया है, परंतु तहसील में आवेदन करने पर आप पिछड़ा जाती के हो, जाती गलत है, आदि-आदि आरोप लगाकर अनुसूचित जाति का प्रमाण पत्र जारी नहीं किया जा रहा है। तहसीलदार महोदय उपरोक्त सभी जातियों को अनुसूचित जाति का प्रमाण पत्र जारी करने की सभी अधीनस्थ कर्मचारियों को निर्देश जारी करें। सभी सुविधाओं को देने की व्यवस्था करें। जल्द प्रमाण पत्र जारी नहीं हुआ तो लोग उग्र धरना प्रदर्शन एवं क्रमिक अनसन के लिए बाध्य होंगे। जिसकी पूरी जिम्मेदारी प्रशासन की होगी। इस अवसर पर रामचरित्र निषाद जिला अध्यक्ष, इंद्रजीत निषाद जिला सचिव, इंद्रजीत निषाद विधानसभा अध्यक्ष सदर, दशरथ बिन्द अध्यक्ष मल्हनी, सत्य प्रकाश निषाद, मदन लाल निषाद, सभाजीत निषाद, प्रदीप कुमार निषाद, राम अदालत निषाद, जमुना निषाद, राजबहादुर आदि लोग उपस्थित रहे।