मोदी सरकार की 4 साल की असली तस्वीर

अलीगढ़ (Aligarh), एकलव्य मानव संदेश (Eklavya Manav Sandesh), ब्यूरो रिपोर्ट 3 जून 2018। *सत्यवादी की कलम से*

*i .ii. iii .iv. v. vi*
*vii. Viii. ix. x*

*अ आ इ ई*
*उ ऊ ऋ ए ऐ*
*ओ औ अं अः*

*A b c d e f g h*
*I j k l m n o p* 
*Q r s t u v w x*
 *y z*

*क ख ग घ ङ*
*च छ ज झ ञ*
*ट ठ ड ढ ण*
*त थ द ध न*
*प फ ब भ म*
*य र ल व श ष स ह...*

*यह जो शब्द आप ऊपर  देख रहे हैं l वह इंसान ने बनाया है और सबसे बड़ी बात यह है कि इन सब शब्दों में से ही भगवान को भगवान का नाम दिया गया है l जिसे सब भगवान बोलते हैं l इससे यह साफ जाहिर होता है कि भगवान ने अपना नाम खुद नहीं रखा है l भगवान जो नाम है वह* *इंसान ने रखा है l यहां तक कि भगवान धरती फाड़कर नहीं निकले हैं l उनकी मूरत को भी इंसानों ने ही बनाया हैं l भगवान नाम भी दिया है l जो भी किया है सब इंसान ने किया है l तो भगवान ने क्या* *किया है ? कौन है भगवान ? भगवान को हम कैसे माने कि वह भगवान है l क्योंकि भगवान को बनाने वाले और भगवान को नाम देने वाले तो इंसान हैं l भगवान ने कुछ खुद से नहीं किया जो किया इंसान ने किया l विज्ञान भगवान को नहीं मानता, क्योंकि भगवान ने तो कुछ ऐसा किया ही क्या जिससे वह माने भगवान है l*
*देश भर में बहुत मंदिर है l वहां पर हर तरह के लोग आते हैं l दूर-दूर से दर्शन करने के लिए और अपनी इच्छा अनुसार 50/ 100 /200 /500 /1000/ 10000 चढ़ाकर कहते हैं l मैंने इतना दान किया मैंने उतना दान किया,*
*क्या भगवान के नाम पर चढ़ाई गई रकम भगवान की जेब में जाती है ?*
*क्या भगवान ने कभी आप से कहा मेरे मंदिर में आइए ?*
*क्या भगवान ने आपसे कभी पैसे मांगे ?*
*क्या भगवान ने कभी आपसे*
*कहा मेरी पूजा करने मंदिर में आइए ?*
*क्या भगवान ने कहा....मेरे लिए अगरबत्ती लेकर आना l मेरे लिए फूल* *लेकर आना मेरे l लिए पैसे लेकर आना l मुझे पैसों की जरूरत है l*
*मैं केवल आपसे नहींसभी लोगों से पूछ रहा हूं l*
*क्या भगवान ने कभी किसी से ऐसी बात की है ?*
*क्या भगवान आज तक किसी से कुछ मांगा है ?*
*कहीं सुना है आपने ?*
*कहीं देखा है आज तक ?*
*बहुत लोग बोलते हैं l मैंने मन्नत मांगी थी मेरी मन्नत पूरी हो गई है l मेरा यह काम हो गया, मेरा वह काम हो गया, मेरी यह मन्नत पूरी हो गई, मेरा काम हो गया है l मैं आपसे पूछता हूं, जो आपका काम हो गया वो क्या* *भगवान ने खुद आकर किया है ? या फिर वह तुम्हारी मेहनत और तुम्हारी लगन से हुआ है ? या फिर तुम्हारी कठिन परिश्रम से हुआ है तुम्हारा काम ?*
*भाइयों दुनिया आगे निकल गई है l अपने मन से अपने अंदर से*
*भगवान नाम का जो डर है, उसे निकालो l बस हो गया बहुत हो गया उसकी झूठी तस्वीर को मिटाओ l जो सिर्फ स्वार्थ के लिए बनाई है l*

*अंधविश्वास भगाओ देश बचाओ!*

      *जय मूलवासी*
(साभार सोशल मीडिया)