आगरा में निषाद वंशीय लोधी समाज की कन्या के साथ हुआ निर्भया जैसा कांड

बाह, आगरा (Bah, Agra) एकलव्य मानव संदेश ब्यूरो (Eklavya Manav संदेश) रिपोर्ट, 8 जून 2018। घटना दिनांक 2 जून 2018 की है। आगरा में निषाद वंशीय लोधी समाज की कन्या के साथ हुआ निर्भया जैसा कांड।
अर्चना पुत्री माधवसिंह, जाति निषाद वंशीय लोधी, निवासी क्वारी, तहसील बाह, जिला आगरा (उत्तर प्रदेश), प्रातः 6 बजे शौच के लिये घर से निकली ही थी, कि पहले से ही घात लगाकर बैठे बाहुबली मुकेश उर्फ पंजाबी व ब्यापक उर्फ विवेक शर्मा पुत्र ब्रजमोहन शर्मा, निवासी क्वारी, तहसील बाह एवं देवेंदर उर्फ सोनू पुत्र पूंजाराम, निवासी रैंका, ने जबरन बलपूर्वक अर्चना को गाड़ी में डाल कर सामूहिक बलात्कार किया। बलात्कार के बाद अर्चना के गुप्तांग में, लाठी डंडा डालकर, निर्ममता से हत्या कर दी और लास को कुंए में फेंक दिया। इस जघन्य हत्याकांड को पुलिस दबाने व मोड़ देने में जुटी हुई है।
उत्तर प्रदेश की योगी सरकार में यह पहला निर्भया जैसा हत्याकांड हुआ है। जिसे लेकर लोधी, निषाद  समाज में सरकार के विरोध में भयंकर रोष है। 


क्षेत्र के लोगों ने प्रदेश के मुख्यमंत्री से गरीब की बेटी के हत्यारों को तुरन्त गिरफ्तार कर, फांसी की सजा दिलाने की मांग की है और चेतावनी देते हुए कहा है कि सरकार ने न्याय नहीं दिलाया तो देश का लोधी, निषाद, कश्यप समाज दिल्ली के जंतर-मंतर पर अनिश्चितकालीन अनशन पर बैठ कर उत्तर प्रदेश सरकार की महिलाओं के प्रति गैर जिम्मेदाराना रवैया से देश को अवगत करायेगा।
इसी सिलसिले में आज 8 जून को एक पत्र भारत सरकार के राष्ट्रीय सफाई आयोग की सदस्या मंजू दिलेर को भी दिया गया है जिसमें दोषियों के विरुद्ध कड़ी से कड़ी कार्यवाही सीघ्र किये जाने की मांग की गई है। 



लोधी-निषाद समाज ने इसे गंभीरता से लिया है। कार्यवाही नहीं हुई तो यह समाज सरकार के खिलाफ आंदोलन करने को मजबूर होगा।