7 जून को निषाद आरक्षण के लिए रेल रोकने में गिफ्तार आंदोलनकारी जेल से हुए रिहा

जौनपुर, उत्तर प्रदेश (Jaunpur, Uttar Pradesh), एकलव्य मानव संदेश (Eklavya Manav Sandesh) ब्यूरो चीफ प्रदीप कुमार निषाद की विशेष रिपोर्ट, 07-07-2018। जौनपुर जनपद में 7 जून को निषाद आरक्षण के लिए रेल रोकने में गिफ्तार आंदोलनकारी जेल से हुए रिहा। प्रदर्शन के दौरान बीते 7 जून को आरक्षण की मांग को लेकर ट्रेन रोकने व पुलिस से झड़प के मामले में नामजद गिरफ्तार 12 आंदोलनकारी सर्वश्री निषाद
1-जालंधर पुत्र तिलकधारी ग्राम मलहज,
2-मोनू पुत्र राम सुभग बघरवारा सरपतहां शाहगंज,
3-संतोष पुत्र वंशु अब्बोपुर खेतासराय ,
4-बालमुकुंद पुत्र रामभरोस झांसेपुर खेतासराय,
5-जितेंद्र पुत्र रामकिशुन बिझवारसागर मुक्तिगंज,
6-छोटे लाल पुत्र गिरधारी खर्चनपुर कबूलपुर,
7-जिलेदार पुत्र रामजतन नवाबाद जफराबाद,
8-छोटेलाल पुत्र राजपत केवटलीकला बक्सा,
9-जयप्रकाश पुत्र मुन्नालाल चकप्यारअली कोतवाली सदर, 10-सत्यप्रकाश पुत्र कमला धनौवा मछलीशहर,
11-रामदवर पुत्र खरपत्तू हड़ही सरायख्वाजा,
12-मनोज पुत्र राजेंद्र अब्बोपुर खेतासराय,
 7 जून 2018 से 6 जुलाई 2018 तक जौनपुर जिला कारागार में बंद थे। शाम को वाराणसी भेजा गया। शनिवार को वाराणसी जिला कारागार से रिहा हुए आंदोलनकारियों को निषाद पार्टी के कार्यकर्ताओं द्वारा माल्यार्पण कर स्वागत किया गया तथा सम्मान पूर्वक घर पहुंचाया गया।
 बाबत नई गंज क्रासिंग के समीप हुए रेल रोको प्रदर्शन में इंदौर पटना एक्सप्रेस समेत कुछ ट्रेनें प्रभावित हुई थी। प्रदर्शन के सूचना पर पहुंची पुलिस द्वारा लाठी चार्ज होने पर, पुलिस और कार्यकर्ताओं में भिड़ंत हो गई थी जिसमें कुछ कार्यकर्ता चोटिल हुए थे तथा 31 लोग गिरफ्तार किए गए थे। जिनमें से 17 महिला व 2 पुरूषों को, 3 जुलाई 18 को जमानत मिली थी।
12 कार्यकर्ता की आज रिहाई पर निषाद पार्टी के लोग हर्षित नजर आये।