फूलन देवी के हत्यारे को जालौन जनपद में आने से नहीं रोका तो फैल सकता है जातीय दंगा-निषाद पार्टी

कालपी, जालौन, उत्तर प्रदेश (Kalpi, Jalaun, Uttar Pradesh), एकलव्य मानव संदेश (Eklavya Manav Sandesh) ब्यूरो सत्यप्रकाश निषाद की रिपोर्ट, 9 जुलाई 2018।फूलन देवी के हत्यारे को जालौन जनपद में आने से नहीं रोका तो फैल सकता है जातीय दंगा-निषाद पार्टी। ये बात आज निषाद पार्टी की जालौन जनपद निर्बल इंडियन शोषित हमारा आम दल जिला इकाई ज्ञापन के माध्यम से शासन, प्रशासन को दी।
ज्ञापन इस प्रकार था-
    सेवा में, 
           श्रीमान जिलाधिकारी महोदय
जनपद जालौन, उत्तर प्रदेश
(द्वारा उपजिलाधिकारी महोदय कालपी)
महोदय,

हम आपको अवगत कराते हुए निवेदन करते हैं कि जनपद जालौन के ग्राम गुड़ा का पुरवा, शेरपुर, तहसील कालपी की जन्मी बहन फूलन देवी जब सांसद थीं, उस दौरान 25 जुलाई को संसद सत्र के चलते, लोकसभा से लौटते वक्त उनकी हत्या कर दी गयी थी। उस हत्या का मुख्य आरोपी शेर सिंह राणा, जो आजीवन सजा प्राप्त है, पैरोल पर अपने घर रहकर अपने बूढे मां बाप की देखभाल के लिए रिहा किया गया है। लेकिन कुछ असामाजिक तत्व और राजनीतिक स्वार्थ के लोग उसका राजनीतिक लाभ लेने के लिए जगह जगह स्वागत कार्यक्रम कराकर निषादों और ठाकुरों में वैमनस्य पैदा करके देश मे जातीय दंगा करना चाहते हैं। शेर सिंह राणा का इलाहाबाद, बिहार सहित कई जगह निषाद समाज द्वारा जबरदस्त विरोध किया जा चुका है और अभी भी हर जगह सोशल मीडिया व अन्य साधनों से विरोध जारी है। अगर शेर सिंह राणा को हमारे जनपद में आने से  नहीं रोका गया तो, यहाँ के निषाद समाज की विरोध प्रतिक्रिया स्वरूप कार्यवाही से दंगा फसाद होने पर पूरे देश में इसकी प्रतिक्रिया हो सकती है। और इसके बाद जो भी घटना होगी उससे निषादों और ठाकुरों में जो  वैमनस्यता पैदा होगी और दंगे फसाद होंगे उसकी जिम्मेदारी शासन और प्रशासन की होगी। क्योंकि बहन फूलन देवी को निषाद समाज अपना आदर्श मानता है।
इसलिए आपसे अनुरोध है कि शेर सिंह राणा के जनपद जालौन में घुसने पर तत्काल प्रभाव से रोक लगाई जय।