रिस्तेदार और किरायेदार की हबस की शिकार किशोरी घर से हुई गायब

शमशाबाद, आगरा, उत्तर प्रदेश (Shamashabad, Agra,Uttar Pradesh), एकलव्य मानव संदेश (Eklavya Manav Sandesh) ब्यूरो चीफ बाबा बालक दास निषाद की रिपोर्ट, 29 जुलाई 2018। रिस्तेदार और किरायेदार की हबस की शिकार किशोरी घर से गायब। 

आगरा जनपद की फतेहाबाद तहसील के शमशाबाद थाना क्षेत्र के ग्राम धमैने का पुरा निवासी रौतान सिंह (कश्यप) पुत्र जनक सिंह ने अपनी छोटी बहन सीमा उम्र 21 वर्ष की गुमसुदगी की रिपोर्ट 23 जुलाई को शमशाबाद थाने में लिखाई थी। जिसमें 20 जुलाई को घर से चले जाने की बात कही थी। लेकिन बाद में घर पर रखे स्कूल बैग में सीमा की लिखी एक चिट्ठी उनको मिली। जिसमें मक्खन (कश्यप) पुत्र हरप्रसाद निवासी जाऊपुरा थाना सिकंदरा, आगरा और रवी (निषाद) पुत्र निरंजन सिंह निवासी ठार  गंगा राम कसौंदी, थाना नगला सिंघी, फ़िरोफाबाद द्वारा रेप किये जाने की बात लिखी है।
बदनामी के डर से किसी को नहीं बताया। क्योंकि ये दोनों ने उसे डरा रखा था जी किसी को बताएगी तो तेरी वीडियो सोषल मीडिया पर डाल दी जाएगी। ये लोग उसे जब मन करता फोन करके बुला लेते थे। तीन बार सीमा का गर्भपात भी इन लोगों ने कराया। उसने लिखा है कि उसकी बच्चेदानी भी निकाल दी गई है। इसी डर से वह घर पर गुमसुध रहती थी।
आखिर में तंग आकर 20 जुलाई को एक चिट्ठी लिखकर घर से गुम हो गई।जिसका आज तक पता नहीं चला है। इसकी नाम दर्ज रिपोर्ट और उनके मोबाइल नंबर जांच के साथ लिखकर दे दिए गए थे। पीड़ित परिवार ने मदद के लिए एसएसपी आगरा से भी गुहार लगाई है। जिससे बलात्कारियों को कड़ी से कड़ी सजा मिल सके। 
     दुष्कर्म के आरोपियों में से मक्खन रिश्तेदार और रवी पीड़ित का किराएदार है। जो पीड़ित के आगरा स्थित घर पर किराये पर रहता था। तभी इन लोगों ने मिलकर सीमा के साथ दुष्कर्म किया था।
ये घटाना निषाद वंश के लिए एक कलंक है। एकलव्य मानव सन्देश ऐसे कुकर्मियों को कड़ी से कड़ी सजा दिये जाने की प्रसाशन से मांग करता है। जिससे इस प्रकार की घटनाओं पर अंकुश लगाया जा सके।