डा० संजय कुमार निषाद के बढ़ते जनाधार से घबराकर फ़र्ज़ी अवफवाह फैलाने वालों से सावधान !!

अलीगढ़, उत्तर प्रदेश (Aligarh, Uttar Pradesh), एकलव्य मानव संदेश (Eklavya Manav Sandesh) ब्यूरो रिपोर्ट, 4 जुलाई 2018। महामना माननीय डा० संजय कुमार निषाद के बढ़ते जनाधार को देखकर विरोधियों द्वारा फ़र्ज़ी अवफवाहें फैलाई जा रही हैं। जैसे कांसीराम जी का कारवां रोकने में तीतर लगे थे। वैसे ही महामना जी का एतिहासिक करवा रोकने के लिए तीतर बिलबिला रहे हैं। साथियों इन तीतरों से हम आप सबको सावधान रहने की जरूरत है।
 ये सर्वविदित है कि, जैसे ही कोई चुनाव नजदीक आता है, वैसे ही समाज के गद्दार व दलाल अपनी दुकान चमकाने में और निषाद समाज को बेचने के लिए काम करने लगते हैं। निषाद पार्टी के आने से उनकी दाल नही गल रही है, तो महामना को व निषाद पार्टी को बदनाम करना चालू कर देते हैं। आपको सावधान रहना होगा।
       आज महामना मा. डा. संजय कुमार निषाद जब निषाद समाज के मसीहा बन कर उभर रहे हैं, तब कुछ समाज विरोधी तत्व उन्हे घेरनें में अपनी पुरी ऊर्जा खर्च कर रहे हैं।
       तरह-तरह के हथकंडे अपना कर के महामना डा. साहब को रोकनें की कोशिश की जा रही है।शायद निषादों की एकता अखण्डता इनसे देखी नहीं जा रही है। इसलिए विरोधी पार्टीयों के इशारे पर काम करनें वाले लोग, जो अभी तक समाज को अपनी बपौती, जागीर समझ कर बेचते रहे, कभी इस पार्टी को कभी उस पार्टी को। अब निषाद समाज को महामना डा. साहब ने जगा दिया है तो, इनको कुछ सुझ नही रहा है कि क्या करें बेचारे।
       हम सभी को इन समाज विरोधी ताकतों से सावधान रहना होगा। अभी तो ये शुरुआत है, आगे और भी बड़े-बड़े कुचक्र रचे जाएंगे। अफवाह फैलाई जाएंगी, महामना डा. साहब को निचा दिखानें के लिए और निषाद समाज की एकता अखण्डता को भंग करने के लिए।
     हमें एक बात हमेशा अपनें दिमाक में रखना होगा:-
    गद्दारों की कौन दवाई ??
 ??..... ??......
आप इसरा समझ गए होंगे।
राष्ट्रीय निषाद एकता परिषद युवा मोर्चा व मूलवासी सेना नें ऐलान किया है। पहले हम किसी को छेड़ेंगे नहीं और जो हमें छेड़ेगा उसे छोड़ेंगे नही !!

Comments

हमारे प्रयास को अपना योगदान देकर और मजबूत करें

हमरी एंड्रॉइड ऐप मुफ्त में डाउनलोड करें

हमारे चैनल की मुफ्त में सदस्यता लें

हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें

निषाद पार्टी न्यूज़

न्यूज़ वीडियो

निषाद इतिहास