पिता की तेरहवीं के दिन सामाजिक कार्यकर्तओं ने कराई गरीब की बेटी की शादी

पनियरा, महाराजगंज, उत्तर प्रदेश (Paniyara, Maharajganj, Uttar Pradesh), एकलव्य मानव संदेश (Eklavya Manav Sandesh) ब्यूरो चीफ विनय कुमार साहनी की रिपोर्ट, 29 जुलाई 2018। पिता की तेरहवीं के दिन सामाजिक कार्यकर्तओं ने कराई गरीब की बेटी की शादी।
लड़की की मां है लेकिन वह दोनों आंख से अंधी है। और सिस्टम की क्रूरता देखिये कि उस ग्राम सभा के ग्राम प्रधान को मात्र वोट न देने के वजह से उस अंधी महिला को पेंशन तक नहीं मिलती है और न ही लड़की के पिता जी को पेंशन मिलती थी।
        इतनी सरकारी योजनाओं के चलते हुये भी उस गरीब परिवार को आज तक आवास भी नहीं मिला है। यह परिवार एक तिरपाल के सहारे अपना जीवन यापन कर रहा है।
            यह पूरी कहानी है उस परिवार गरीब परिवार की  इसलिये यह खबर एकलव्य मानव सन्देश इस आशय के साथ प्रकाशित कर रहा है, शायद उनको उनका अधिकार मिलना शुरू हो जाए और साथ ही साथ समाज के लोग भी इस तरह के कार्य में शामिल होने के लिए जागरूक हो सकें।
     
 दिनांक 26/07/2018 को ग्राम सभा नरकटहाँ बाजार, थाना पनियरा, जिला महराजगंज में एक बेहद ही गरीब परिवार कि लड़की की शादी धूमधाम से कराई गई। लड़की का नाम गुड़ीया है और उसके पिता का नाम राम सेवक था। राम सेवक अपने परिवार का पालन पोषण भीख मांगकर किया करते थे, मगर अभी 11 जुलाई को उनका देहांत हो गया था। जिनका ब्रम्हभोज 23 को था। उनका ब्रम्हभोज और उनकी लड़की की शादी एक समाजिक कार्यकर्ता (धर्मात्मा निषाद) व उनकी पूरी टीम के सहयोग कराई गई है। जिसमें मुख्य अतिथि निषाद पार्टी की नेत्री सुमन ओझा जी रही। मुख्य सहयोगियों के नाम अजय निषाद, अरविंद निषाद, विमलेश निषाद, श्याम निषाद व समस्त ग्रामवासी रहे।