लखनऊ एक्सप्रेस वे की सर्विस रोड अचानक धंस जाने से होन्डा कार 40 फीट गहरी जमीन के अंदर चली गई

फतेहाबाद, आगरा, उत्तर प्रदेश (Fatehabad, Agra, Uttar Pradesh) एकलव्य मानव सन्देश (Eklavya Manav Sandesh) रिपोर्टर संजय सिंह निषाद की रिपोर्ट, 1 अगस्त 2018। आगरा लखनऊ एक्सप्रेस वे सर्विस  रोड धंसी, मुम्बई से कन्नौज जा रहे थे कार सबार बाल बाल बचे सवार। बुधवार सुबह थाना डौकी क्षेत्र में आगरा लखनऊ एक्सप्रेस वे की सर्विस रोड अचानक धंस जाने से होन्डा कार 40 फीट गहरी जमीन के अंदर चली गई। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई। पुलिस द्वारा पीएनसी के अधिकारियों को सूचना देकर क्रेन को मंगबाकर कार को बाहर निकलवाया गया। वही कार में बैठे सभी लोग सुरक्षित निकल आये।
       मुंबई से कार को खरीदकर कन्नौज ले जा रहे थे। प्राप्त जानकारी के अनुसार बुद्घवार सुबह करीब 5 बजे डौकी थाना क्षेत्र के ग्राम वाजिदपुर के पास आगरा लखनऊ एक्सप्रेस वे की सर्विस रोड के पास मुंबई से कार खरीद कर लाये लोगों की कार खाई में चली गई। समधन, जिला कन्नौज निवासी मोहम्मद नूरशाह पुत्र इस्लाम हुसैन ने अंधेरी बेस्ट मुम्बई से सीआरबी होन्डा कार एम एच 43 एन 7400 खरीदी थी। जिसे लेकर विगत 31 जुलाई की रात अपने साथी रजित कुमार पुत्र रामेन्द्र कुमार निवासी कोतवाली के पीछे गुरुसाय गंज कन्नौज, अब्दुल उसीन पुत्र अब्दुल हलीम निवासी जीरा रोड कमालगंज फरुखाबाद तथा मोहम्मद शानू पुत्र मोहम्मद हारुन निवासी समधन गुरुसाय गंज कन्नौज के साथ एक बजे मुम्बई से गुरुसाय गंज के लिये रवाना हुए थे। जो जीपीएस सिस्टम से चल रहे थे। बुधवार सुबह आगरा पहुंचने पर वह गूगल मैप के सहारे रोड पर चल रहे थे। नेटवर्क न मिल पाने के कारण आगरा लखनऊ एक्सप्रेस वे पर ऊपर न जा कर आगरा लखनऊ एक्सप्रेस वे की सर्विस रोड पर चल रहे थे। सुबह लगभग पांच बजे जैसे ही वे बाजिदपुर की पुलिया के पास पहुंचे तभी अचानक सडक पर हल्का सा गड्ढा दिखाई दिया तुरंत कार को रोक कर साईड से निकालना चाह रहे थे। तभी अचानक सडक कार के बजन से धंस गई और कार लगभग 40 फीट गहरी जमीन के अंदर चली गई। कार के गिरते ही आस पास गुजर रहे लोगों ने देखा तो तत्काल पुलिस को सूचना दी तथा पीएनसी की गाडियां मौके पर पहुंची तथा सहायता शुरू की। चारों लोगों को सुरक्षित गाडी से निकल कर ऊपर आ गये। क्रेन की सहायता से गाडी को बाहर निकाला गया। वहीं तत्काल सर्विस रोड को बंद कर गड्डे को भरने का काम शुरू करा दिया गया।