रायफल लेकर लौट रहे युवक से बदमाश लूट ले गए रायफल

फतेहाबाद, आगरा, उत्तर प्रदेश (Fatehabad, Agra, Uttar Pradesh) एकलव्य मानव सन्देश (Eklavya Manav Sandesh) रिपोर्टर संजय सिंह निषाद की रिपोर्ट, 26 अगस्त 2018। बन्दूक की दुकान से राईफल ले कर आ रहे युवक के साथ मारपीट कर लूट ले गये राईफल। घटाना की रिपोर्ट थाना निबोहरा में दर्ज की गई है।
आगरा जनपद की फतेहाबाद तहसील के थाना निबोहरा के अन्तर्गत विगत गुरुवार की शाम आगरा शहर के एक गन हाउस से अपनी लाईन्सेसी राईफल को लेकर गांव लौटते समय युवक के साथ मारपीट कर राईफल को लूट कर ले जाने की घटना प्रकाश में आयी है। लूट की इस घटना की रिपोर्ट थाना निबोहरा में पांच लोगों के नामजद तथा दो अज्ञात के विरूद्ध दर्ज कराई गई है। साय का पुरा निबोहरा निवासी सत्य प्रकाश पुत्र प्रताप सिंह, विगत गुरुवार को आगरा से अपनी लाईन्सेसी रायफल आगरा के एक गन हाउस से लेने के लिए गया था। रायफल को लेकर वापस लौटते समय जैसे ही जे.डी.एम.इंटर कालेज पुरा भगतू पर पहले से घात लगाकर बैठे जीतेंद्र, उम्मेदसिंह, तपेन्द्र, दलीप सिंह, तपेन्द्र पुत्र प्रेम सिंह तथा दो अज्ञात लोगों ने हमला बोल दिया और सत्यभान के साथ मारपीट कर रायफल लूट कर भाग गए। सूचना मिलते ही पुलिस अधीक्षक ग्रामीण नित्यानंद, क्षेत्राधिकारी संजय कुमार सागर, प्रभारी निरीक्षक निबोहरा मय पुलिस बल के साथ घटना स्थल पर पहुंच गए।
   शुक्रवार शाम को कालेज के सीसी कैमरे में घटना को देखकर अभियोग पंजीकृत कर लिया गया है। निबोहरा पुलिस द्वारा नामजदों के यहां दविशें दी जा रही हैं। लेकिन अभियुक्त अभी तक फरार हैं।
    गुरुवार को सत्यप्रकाश की रायफल लूटने के पीछे मामला रंजिश का है। विगत जून में उम्मेदसिंह ने थाना निबोहरा में गांव के ही रमेश, रामनिवास एवं भूपेंद्र के विरुद्ध जान से मारने की नियत से फायर कर उसके बेटे को गम्भीर रूप से घायल कर देने की धाराओं में मामला पंजीकृत कराया था।पुलिस द्वारा जांच करने पर मामला झूठा पाया गया था तथा पुलिस ने जांच में पाया कि उम्मेदसिंह ने ही अपने पुत्र को गोली मार कर घायल किया था। यह जानकारी होते ही उम्मेदसिंह फरार हो गया। इस मामले में सत्यप्रकाश गवाह है।

Comments

हमारे प्रयास को अपना योगदान देकर और मजबूत करें

हमरी एंड्रॉइड ऐप मुफ्त में डाउनलोड करें

हमारे चैनल की मुफ्त में सदस्यता लें

हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें

निषाद पार्टी न्यूज़

न्यूज़ वीडियो

निषाद इतिहास