19 सितम्बर के समाचार फतेहाबाद आगरा उत्तर प्रदेश से

फतेहाबाद, आगरा, उत्तर प्रदेश (Fatehabad, Agra, Uttar Pradesh), एकलव्य मानव सन्देश (Eklavya Manav Sandesh) रिपोर्टर संजय सिंह की रिपोर्ट, 19 सितम्बर 2018। 19 सितम्बर के समाचार फतेहाबाद आगरा उत्तर प्रदेश से।
बाईक को बचाने के चक्कर में ट्रैक्टर पलटा कर गिरा खाई में किशोर की मौत पिता गंभीर
आगरा जनपद के फतेहाबाद तहसील के फिरोजाबाद मार्ग पर बुधवार रात करीब 8:30 बजे फतेहाबाद की ओर से जा रहा एक ट्रैक्टर सामने से आ रही अनियंत्रित बाइक को बचाने के चक्कर में सड़क के किनारे खाई में जाकर पलट गया। जिससे ट्रैक्टर पर सवार 12 वर्षीय किशोर की उसके नीचे दबकर मौत हो गयी और ट्रैक्टर चला रहा उसका पिता गंभीर रूप से घायल हो गया। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को पीएम के लिए भेज दिया।
      प्राप्त जानकारी के अनुसार ग्राम उझावली निवासी राजकुमार अपने 12 वर्षीय पुत्र भोला के साथ फतेहाबाद से ट्रैक्टर से अपने गांव जा रहा था। ग्राम पूठपुरा के पास अचानक सामने से आ रही एक बाइक को बचाने के चक्कर में ट्रैक्टर अनियंत्रित हो गया तथा सड़क के किनारे खाई में जा कर पलट गया। ट्रैक्टर पलटने से ट्रेक्टर में बैठा भोला उसके नीचे दब गया, जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गया। अस्पताल ले जाते हुए रास्ते में उसकी मौत हो गई। वहीं राजकुमार गंभीर रूप से घायल हो गया।
        इससे पूर्व घटना की सूचना मिलते ही बड़ी संख्या में ग्रामीण मौके पर पहुंच गये तथा किसी तरह दोनों को ट्रैक्टर के नीचे से निकाला। घटना की सूचना मिलते ही पीआरबी 57 तथा इलाका पुलिस मौके पर पहुंची तथा घायल राजकुमार को अस्पताल में भर्ती करवाया। और भोला के शव को पीएम के लिए भेज दिया।


 कई राशन कार्ड धारको को आठ आठ माह से नहीं मिला खाद्यान
  आगरा की फतेहाबाद तहसील क्षेत्र में गरीबों को नही मिल पा रहा है उनका हक। ग्रामीण कई बार कर चुके अधिकारियों से शिकायत। राशन डीलर करता है अपनी मन मानी। खाद्य सुरक्षा अधिनियम के अन्तर्गत प्रत्येक यूनिट को पांच किलो अनाज मिलने का प्रावधान है। लेकिन आगरा की फतेहाबाद तहसील क्षेत्र में राशन बिक्रेता चार किलो ही अनाज प्रति यूनिट के हिसाब से वितरण कर रहे हैं। जिससे कार्ड धारकों मे रोष व्याप्त है।
गांव सिलावली में कोटेदार द्वारा राशन कार्डधारकों को राशन न देने पर जमकर हंगामा किया गया। ग्रामीणों का आरोप था कि कोटेदार द्वारा कई महीनों से मिट्टी के तेल का भी वितरण नहीं किया गया है।
      गुडडी देवी, मुन्नी देवी, कलावती, सुमित्रा, चंचल, रतन देवी आदि ने बताया कि उन्हें कई महीनों से खाद्यान नहीं दिया गया है। तथा देववेटी, अंजली, गुडडी ,गीता आदि ने बताया कि राशन डीलर द्वारा 80 फीसदी कार्ड अपने पास ही रख लिये गये हैं। उन्होंने बताया कि कई बार अधिकारियों से शिकायत भी की गई। लेकिन आज तक कोई भी कार्यवाही नहीं की। जिससे कोटेदार के हौसले बुलंद हैं।