यमुना नदी में उफान आने से प्रशासन चौकन्ना, किनारे के 26 गांव में चेतावनी जारी

फतेहाबाद, आगरा, उत्तर प्रदेश (Fatehabad, Agra, Uttar Pradesh), एकलव्य मानव सन्देश (Eklavya Manav Sandesh) रिपोर्टर संजय सिंन्ह निषाद की रिपोर्ट, 2018। यमुना नदी में उफान आने से प्रशासन चौकन्ना, 6 बाढ़ चौकियां बनायीं, 26 गांव हैं यमुना के किनारे। आगरा जनपद की तहसील फतेहाबाद में यमुना नदी में लगातार हथिनीकुंड से पानी छोडेजाने के कारण बाढ का खतरा बढ गया है। बाढ़ से निवटने के लिए प्रशासन पूरीतरह से चौकन्ना हो गया है। उपजिलाधिकारी देवेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि बाढ़ से निवटने के लिए तहसील मुख्यालय के वीआरसी मे कन्ट्रोल रुम खोलागया है। जिसके प्रभारी बृजेश कुमार प्रशासनिक अधिकारी एवं नायब तहसीलदार सत्य प्रकाश को बनाया गया है। कन्ट्रोल रुम के टेलीफोन नम्बर 05612252010 पर सूचना दी जा सकती हैं। तहसील क्षेत्र में छः बाढ़ चौकियां स्थापित की गई हैं। जिन गांवों में चौकियां बनाई गई हैं जिसमें नरि, भोलपुरा, नगलाबेहड, लुहारी फतेहाबाद, पारोली सिकरवार एवं भलोखरा हैं।
इन बाढ चौकियों पर एक एक राजस्व निरीक्षक तथा दो दो लेखपालों की तैनाती की गई हैं। बाढ आने पर लोगों को सुरक्षित रखने के लिए फतेहाबाद में 10 ऐसे स्थान बनाए गए हैं जहां लोगों को रखा जाएगा। इनमें जवाहर नवोदय विद्यालय कौलारा कलां, जूनियर हाईस्कूल नगला बेहड़, जूनियर हाईस्कूल डौकी, भगवती देवी इंटर कॉलेज वाजिदपुर,  प्राथमिक विद्यालय ईंधौन, सरस्वती ज्ञान मंदिर इण्टर कॉलेज फतेहाबाद, जूनियर व प्राथमिक स्कूल भलोखरा, पशु अस्पताल वेगनपुर, जूनियर हाईस्कूल वरना,
जूनियर हाईस्कूल पारौली सिकरवार प्रमुख हैं। एसडीएम ने बताया कि यमुना नदी के किनारे 26 गांव हैं जिनमें 8 गांव लो फ्लड, 6 गांव मीडियम फ्लड तथा 12 गांव हाई फ्लड जोन में रखे गए हैं। इन गांवों में भरापुर, बमरौली, ईंधौन, मडायना, मेवली कलां, गुढा, मेवली खुर्द, हिमायूंपुर ईंधौन,
साहिदपुर, बरीपुरा, बेहडी, पारौली सिकरवार, बिचौला, गिदरौन सहित 26 गांवहैं। वहीं उटंगन नदी में फतेहाबाद क्षेत्र में बाढ़ का कोई खतरा नहीं बताया जा रहा है।