निषाद की हत्या में एक ही परिवार के जिला पंचायत सदस्य पति सहित चार निषादों को हुई आजीवन कारावास की सजा

सुल्तानपुर, उत्तर प्रदेश (Sultanpur, Uttar Pradesh), एकलव्य मानव सन्देश (Eklavya Manav Sandesh) ब्यूरो रिपोर्ट, 29 सितम्बर 2018।निषाद की हत्या में एक ही परिवार के जिला पंचायत सदस्य पति सहित चार निषादों को हुई आजीवन कारावास की सजा।
इस मामले की सुनवाई कर रहे हैं सत्र न्यायाधीश उमेश चंद्र शर्मा ने  आरोपियों को उम्र कैद की सजा के साथ ही साथ प्रत्येक पर 60000 रुपये से दंडित कर जेल भेजने का आदेश दिया।
मामला थाना  कादीपुर क्षेत्र के कादीपुर खुर्द गांव से जुड़ा है। अभियोजन पक्ष के मुताबिक गांव निवासी  दुद्धी लाल बालू खनन का ठेका लेने का आवेदन कर रखा था। इसी बात की रंजिश को लेकर थाना चांदा क्षेत्र के साढापुर गांव निवासी राम केवल, वृंदा प्रसाद समेत विनोद ने 18 जून 2006 को बिंदे को गाली गलौज देते हुए धारदार हथियार से हमला कर दिया था। बचाने दौड़े रामप्रकाश तथा अच्छे लाल को भी  आरोपितो ने मार पीट कर  घायल कर दिया था। घटना में  विन्दे की  मौत  हो गई थी। घटना की प्राथमिक मृतक के पिता दुद्धी लाल ने स्थानीय थाने में आरोपितो के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कराया था। अभियोजन पक्ष के अधिवक्ता तारकेश्वर सिंह की दलील सुनने के बाद न्यायाधीश ने आरोपित रामकेवल, बृन्दाप्रसाद, विनोद को उम्र कैद की सजा सुनाई है। जुर्माने की  रकम में से मृतक के पिता  को  एक लाख  रुपए  देने  का आदेश सुनाया है।
    जनपद सुलतानपुर के कादीपुर के बालू खनन ठेके के विवाद में 12 साल पूर्व कादीपुर खुर्द देवाढ़ घाट पर अरविंद निषाद उर्फ़ बिन्दे की हत्या के जुर्म में एक ही परिवार के चार निषदों को दोषी करार दिया गया है। और सभी को आजीवन कारावास की सजा आज सुनाई गई है। अभियुक्तों को जेल भेज दिया गया है।
      कादीपुर कोतवाली क्षेत्र के कादीपुर खुर्द (देवाढ़ घाट) पुल स्थित दुद्धी लाल की चाय की दुकान पर 18 जून 2006 को अरविंद उर्फ़ बिन्दे की चाकू मार कर हत्या कर दी गई थी। दुद्धीलाल की तहरीर पर अभियुक्त रामकेवल, विनोद, प्रमोद और जिला पंचायत सदस्य बृन्दा प्रसाद पर हत्या व जानलेवा हमला का मुकदमा दर्ज किया गया था, सभी आरोपी चांदा थाना के साढ़ापुर (रेतवा) के निवासी हैं। सजा पाने वाले हैं
बृन्दा प्रसाद निषाद प्रतिनिधि जिला पंचायत सदस्य, इनके पिता राम केवल और छोटे भाई विनोद निषाद उर्फ़ राजा,
ग्राम- साढ़ापुर (रेतवा) चांदा सुलतानपुर।
 हत्या का मूल कारण बालू का ठेका था।