भाजपा सरकार में लोगों को लगने वाली सुई के भी पैसे बसूलते हैं अस्पताल और वहीं किया जा रहा है आयुष्मान योजना का शुभारंभ

सिद्धार्थ नगर, उत्तर प्रदेश (Sidharth Nagar, Uttar Pradesh), एकलव्य मानव सन्देश (Eklavya Manav Sandesh) ब्यूरो प्रदीप कुमार निषाद की रिपोर्ट 23 सितम्बर 2018। भाजपा सरकार में लोगों को लगने वाली सुई के भी पैसे बसूलते हैं अस्पताल और वहीं किया जा रहा है आयुष्मान योजना का शुभारंभ। दिनांक 23 सितम्बर 2018 को विकास खंड डुमरिया गंज के नए प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र अजीगरा में आयुष मेले का आयोजन किया गया। जिसके मुख्य अतिथि डुमरिया गंज के विधायक राघवेंद्र सिंह रहे।जिनके द्वारा मेले का शुभारम्भ किया गया। भाजपा की सरकार में मानें, तो ईंस अस्पताल की हालत बद से बदतर नजर आई।
      अस्पताल जर्जर है, खिड़की दरवाजे रो रहे हैं। लोगों का कहना है की यहां पर लगने वाली सुई का पैसा लिया जाता और अधिकतर दवाइयाँ बाहर की लिखी जाती हैं। वहीं और तो और हर मरीज को एक ही नीडिल और सिरिंज द्वारा दिया जाता इंजेक्शन, पैरासिटामोल, फोलिक एसिड, आइरन की गोली देकर मरीजों से छुटकारा ले लिया जाता है। ईतना ही नहीं तैनात डॉ की उपस्थित ठीक नहीं है। आते ही नहीं, आते तो समय से पहले अस्पताल को छोड़कर भाग जाते हैं। उपस्थित मरीजों की भीड़ देखकर लगा की यहां डॉ. नहीं बैठते।
      लोगोंं ने कैमरे में बयान दिया कि यहां डॉ लापरवाही करते हैं। समय से नहीं आते है और सुई का पैसा लेते हैं। बयान हिन्दू युवा वाहिनी के कार्यकर्त्ताओ ने इसका विरोध किया की ऐसा नहीं सुई का पैसा नहीं लिया जाता है। इससे स्पस्ट होता है हिन्दू युवा वाहिनी के संरक्षण में डॉ. कार्य कर रहे हैं। जो भी मरीजों से वसूली होती उसमें इनको भी जाता होगा। इस विषय पर तैनात डॉ आर के मेजर प्रताप ने कहा की यहां की स्थिति जो भी है, यहां की जनता ग्राम प्रधान की जिम्मेदारी में आती है। अगर यह लोग इस अस्पताल की जिम्मेदारी में अपना योगदान नहीं देंगे तो कुछ भी नहीं हो सकता है। यहाँ के लोग तोड़फोड़ कर देते हैं। दरवाजा खिड़की तभी ऐसा है और डॉ यहां क्या कर सकता। इससे जाहिर होता है की अस्पताल में कोई रहता नहीं है। नाही इसकी कोई देख रेख करने वाला है। जिससे अस्पताल की ये  दशा है। यहां तो यह भी नहीं स्पस्ट हो सकता है की यहां कोई नया प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र है। न तो यहां चिकित्सा प्रभारी का रूम पता चलता है, न ही स्टोर का, न ही दवा वितरण रूम का, सब उल्टा हो रहा है। जो आये भटकता रहे। ये है इस नया प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र अजगरा का हाल। जहाँ सरकार कहती है, न खाएंगे, न खाने देंगे, उसी की सरकार में मरीजों को लूटा जा रहा है। वह भी भाजपा के चहेते विधायक डुमरियागंज राघवेंद्र प्रताप सिंह के क्षेत्र की दशा है। जहाँ हिन्दू युवा वाहिनी के कार्यकर्त्ता अस्पताल में तैनात डॉ के बने हैं, हितैशी। वहीं स्टोर रूम देखने को कहा गया तो आना कानि कर दिया गया, डॉ. द्वारा। जो जनता व मरीजों के साथ अन्याय है। आखिर क्या हो रहा भाजपा की सरकार में। मरीज परेशान जिम्मेदार आँखे बंद कर निभाती हैं, जिम्मेदारी।