विधानसभा सिरमौर गाढ़ा के लाही में डॉ संजय कुमार निषाद ने विधान सभा चुनाव के लिए किया संखनाद

रीवा, मध्य प्रदेश (Rewa, Madhya Pradesh), एकलव्य मानव सन्देश (Eklavya Manav Sandesh) ब्यूरो रिपोर्ट, 1 अक्टूबर 2018। विधानसभा सिरमौर गाढ़ा के लाही में डॉ संजय कुमार निषाद ने विधान सभा चुनाव के लिए किया संखनाद।
         
 1 अक्टूबर को मध्य प्रदेश के विंध्य प्रदेश की धरा पर विधानसभा सिरमौर गाढ़ा 138, के लाही में महामना डॉक्टर संजय कुमार निषाद ने विशाल आमसभा को संबोधित किया। मछुआ समुदाय की मध्य प्रदेश की सत्ता में भागीदारी करने के लिए, जय निषाद राज का नारा दिया।
        मध्य प्रदेश की इस विधानसभा क्षेत्र में 15 से 20 हजार माझी (निषाद) समाज के वोट हैं, जिन्होंने तन मन धन के साथ माझी (निषाद) के बेटे को जिताकर विधानसभा में पहुंचाने का संकल्प लिया, जिससे इस समाज को भी मान सम्मान मिल सके। आज की सभा में जुटे पूरे विधानसभा क्षेत्र के लोगों ने एक स्वर से कहा कि महामना डॉ संजय कुमार निषाद जी के आगमन से आज आज यह विधान सभा भी धन्य हो गई है। आज पूरे समुदाय के लोगों के लिए गर्व का दिन था। माझी समाज के लोगों ने कहा कि महामना डॉ संजय कुमार  निषाद के द्वारा मध्य प्रदेश की इस माझी समाज को  सत्ता के दरवाजे में पहुंचने के बाद ही माझी समस्या का हल हो सकता है।
    आज के कार्यक्रम में सर्वश्री पवन कुमार वर्मा प्रदेश सचिव, महिला मोर्चा प्रदेश महासचिव प्रामिला जयसवाल, जिला अध्यक्ष रीवा महिला मोर्चा सुनीता विश्वकर्मा के साथ समस्त निषाद वंशीय समाज के साथ हर समाज के लोग उपस्थित थे।उनकी हक और अधिकार की बात को राज्य सरकार तक पहुंचाने लिये निषाद पार्टी को मजबूत करने का संकल्प लिया।
        आज दिनांक 1अक्टूबर 2018को निर्बल इंडियन शोषित हमारा आम दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉक्टर संजय कुमार निषाद जी होटल राज पैलेस रीवा में प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि सरकारें जब अनैतिक, अमर्यादित, अत्याचारी और निरंकुश हो जाती हैं तो लोकतंत्र में एक ऐसे सर्वमान्य नेता को आगे आना होता है जो देश के संविधान, विधान और आम जनता की आवाज को ताकत देने के लिए शोषित वर्ग एवं वंचित समाज का प्रतिनिधित्व करे। आज इस समाज का नेतृत्व करने मध्य प्रदेश के विंध्य भाग में निर्बल इंडियन शोषित हमारा आम दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष महा मना डॉक्टर संजय कुमार निषाद का रीवा में पदार्पण हुआ है। डॉक्टर संजय कुमार निषाद भारत देश में निर्बल पीड़ित शोषित संवैधानिक अधिकारों से वंचित सामाजिक रूप से उपेक्षित लोगों का प्रतिनिधित्व करेंगे। इसी तारतम्य में डॉक्टर संजय निषाद मध्य प्रदेश के दबे कुचले सर्वहारा वर्ग की आवाज को बुलंद करने के लिए छह दिवसीय राजनीतिक और सामाजिक दौरे पर रीवा में आगमन हुआ है।
     डॉ. संजय कुमार निषाद ने प्रेस को संबोधित करते हुए कहा कि मध्यप्रदेश में आने के बाद ऐसा लगा कि भाजपा विगत 15 वर्षों से मध्य प्रदेश में सरकार नहीं, व्यवसाय चला रही है। इस सरकार में जो सक्षम है वही सुरक्षित है चाहे वह प्रदेश की बहन बेटियां हों, बेरोजगार हों, मजदूर हों, किसान हों, कर्मचारी हों, व्यापारी हों।
      मध्य प्रदेश का एक ऐसा समुदाय जिसे संविधान ने बढ़-चढ़कर के आदिम समुदाय की श्रेणी में रखा था। वंशानुगत मछुआ नाविक माझी जनजाति जिसके संपूर्ण संवैधानिक आरक्षण के अधिकार को छीन कर भाजपा सरकार ने माझी समाज के लाखों बच्चों का जीवन बर्बाद कर दिया। यह सरकार निर्बल शोषित समाज का उसी तरह से दमन कर रही है। जिस तरह से अंग्रेजों ने हम भारतीयों का किया था। माझी समुदाय के साथ साथ पनिका, कुम्हार, कीर, मीड़ा, पारधी, गोंड, ग्वारी, बैगा, अगरिया, सहरिया आदि ऐसे अनेक समुदाय है। जिनके नाम पर सरकार ने प्रोजेक्ट बनाकर निगम बना कर करोड़ों का घोटाला तो कर लिया लेकिन यथार्थ के धरातल पर उनका कहीं भी विकास नहीं हुआ है। इस सरकार ने शिक्षा महंगी कर दी, स्वास्थ्य महगा कर दिया,  डीजल पेट्रोल के दाम बढ़ा दिए और आज वंचित वर्ग दो वक्त की रोटी की व्यवस्था में दिन रात भटक रहा है। शिक्षित बेरोजगार रोजगार के लिए भटक रहे हैं और सरकारें दिन-प्रतिदिन झूठ का महल तैयार करके लोगों को भुलावे में डालकर के सत्ता सुख भोग रही हैं।
      डॉ. संजय कुमार निषाद ने आगे कहा कि आज पूरा प्रदेश कर्ज में डूब गया है और आगे 15 साल तक जो भी सरकार आएगी वह कर्ज भरते भरते टूट जायेंगीं। भाजपा सरकार ने पूरे प्रदेश का पतन कर दिया है।
     डॉक्टर संजय निषाद जी ने बताया की मध्यप्रदेश में हर वर्ग को आरक्षण मिला है संरक्षण मिला है लेकिन माझी समुदाय एक ऐसा समुदाय है जिसका जिक्र 1950 से अब तक भारतीय संविधान में और भारतीय संसद सदन में यह पारित करती चली आ रही है कि तत्कालीन विंध्य प्रदेश में  और आज पूरे मध्यप्रदेश में माझी जनजाति पाई जाती है सारे दस्तावेज केवट, कहार, मल्लाह, ढीमर आदि के पक्ष में हैं, इसके बावजूद भी अवैध तरीके से भाजपा सरकार ने आदेश प्रसारित करके समाज को संवैधानिक अधिकार आरक्षण से वंचित कर दिया।
     निषाद पार्टी का उद्देश्य है कि मध्य प्रदेश के हर शोषित, पीड़ित, निर्बल व्यक्ति तक उनके हक अधिकार, शिक्षा, संसाधन-संसाधन, रोजी-रोजगार पहुंचना चाहिए। चाहे वह किसी भी जाति, धर्म, समुदाय वर्ग का ब्यक्ति हो। भाजपा द्वारा  समाज में फैलाए गए धार्मिक उन्माद जातिवाद और संप्रदाय का निषाद पार्टी पुरजोर विरोध करती। भारतीय जनता पार्टी ने राष्ट्रीय युवा प्रकोष्ठ को भंग कर के निशानों के आवाज को दबाने का काम किया है। आज भाजपा का मछुआरों के प्रति काला चेहरा निषाद निषाद पार्टी उजागर करती है। ऐसी सरकारों को प्रदेश से बेदखल करने के लिए जन जन तक निषाद पार्टी पहुंच रही है।

Comments

हमारे प्रयास को अपना योगदान देकर और मजबूत करें

हमरी एंड्रॉइड ऐप मुफ्त में डाउनलोड करें

हमारे चैनल की मुफ्त में सदस्यता लें

हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें

निषाद पार्टी न्यूज़

न्यूज़ वीडियो

निषाद इतिहास