परिवर्तन के लिए निषाद पार्टी, समाजवादी पार्टी और गोंडवाना गणतंत्र पार्टी मिलकर लड़ेंगे मध्य प्रदेश में भाजपा हराने को चुनाव

लखनऊ, उत्तर प्रदेश (Lucknow, Uttar Pradesh) एकलव्य मानव सन्देश (Eklavya Manav Sandesh) ब्यूरो रिपोर्ट, 12 अक्टूबर 2018। लखनऊ से प्राप्त जानकारी के अनुसार, मध्य प्रदेश में भाजपा के कुशासन से जनता को निजात दिलाने के लिए समाजवादी पार्टी, निषाद पार्टी और गोंडवाना गणतंत्र पार्टी मिलकर 2018 का विधान सभा चुनाव लड़ेंगे।
      प्राप्त जानकारी के अनुसार तीनो पार्टियों में सीटों को लेकर कोई मत भेद नहीं हैं और तीनों का मकसद भी एक ही है, भाजपा के कुशासन, भृस्टाचार से प्रदेश की जनता को मुक्त कराना। समाजवादी पार्टी पहले भी मध्य प्रदेश में विधायक जीता चुकी है और प्रदेश में अच्छी पकड़ रखती है। उधर गोंडवाना गणतंत्र पार्टी मध्य प्रदेश में सभी जिलों में अपना प्रभाव रखती है। निषाद पार्टी ने पिछले एक वर्ष से मध्य प्रदेश में अपनी ताकत बढ़ानी शुरू की है। लगभग 1 दर्जन जिलों में निषाद पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष महामना डॉ.संजय कुमार निषाद ने बड़ी सभाओं को संबोधित किया है। और प्रदेश में निषाद वंश के माझी समाज के लोगों में निषाद पार्टी की ओर जबर्दस्त झुकाव है।
    भाजपा की सरकार ने माझी अरक्षण को 1 जनवरी 2018 को एक तरह से निष्प्रभावी बना दिया था। जिसको लेकर पूरे मध्य प्रदेश के लगभग 1 करोड़ माझी समाज में जबरदस्त उबाल है और इसका बदला आने वाले 2018 के चुनाव में भाजपा को हराकर सत्ता में अपनी भागीदारी के बल पर आरक्षण सहित सभी समस्याओं का हल करने के लिए निषाद पार्टी और उसके गठवंधन को जिताना चाहता है।