फतेहाबाद आगरा की खबरें

फतेहाबाद, आगरा, उत्तर प्रदेश (Fatehabad, Agra, Uttar Pradesh), एकलव्य मानव सन्देश (Eklavya Manav Sandesh) रिपोर्टर संजय सिंह निषाद की रिपोर्ट, 10 अक्टूबर 2018।
तहसील फतेहाबाद के अंतर्गत ग्राम पंचायत कौलारा कलां में कार्यरत लेखपाल वीरेंद्र विमल का कारनामा।
  ग्रामपंचायत कौलारा कलां के मजरा वरकुला निवासी मुकेश   के पिताजी गंगा प्रसाद की, सौतेली माँ व सौतेले भाइयों के उत्पीरण के कारण दिनांक 12 फरवरी 2017 को अस्वभाविक मृत्यु हो गई। दिनांक 20 मार्च 2017 को पीड़ित के गांव कौलारा कलां के लेखपाल वीरेंद्र विमल ने पीड़ित के चाचा रामगोपाल को पंचायत घर बुलाया व वारसी कराने हेतु दो हजार का खर्च बताया। जिसमें से लेखपाल साहब ने बतौर एडवांस एक हजार रुपये ले लिए। 27 मार्च 2017 को कानूनगो साहब ने बुलाया तो पता चला कि लेखपाल ने दर्ज कराने हेतु फर्जी वारसी कार्यवाही की है। पीड़ित का फर्जी अंगूठा निशान लगाया है। जबकि पीड़ित हस्ताक्षर करता है। इस मामले में जब पीड़ित ने लेखपाल से बात की तो अभद्र भाषा का प्रयोग कर मारपीट पर उतारू हो गये। इस संबंध में पीड़ित ने लेखपाल के खिलाफ उप जिलाधिकारी फतेहाबाद को कार्यवाही हेतु ज्ञापन सौंपा। उप जिलाधिकारी देवेंद्र प्रताप ने मामले की जांच कर कार्यवाही का अस्वासन दिया।
     निषाद पार्टी कार्यकर्ताओं ने काटा हंगामा तहसील में निषाद पार्टी युवा मोर्चा अध्यक्ष अवधेश कुमार निषाद के नेतृत्व में एसडीएम को ज्ञापन सौंपा। गिर्राज निषाद, जगत सिंह निषाद, मुकेश निषाद, विजय निषाद, राजू निषाद, एसपी सिंह निषाद, वीरेंद्र निषाद, अभिषेक निषाद, संजय सिंह निषाद, विपिन निषाद, देवेंद्र निषाद, मूलचंद निषाद, बीरी सिंह निषाद, आदिकार्यकर्ता उपस्थित रहे।
    इस संदर्भ में लेखपाल विमल कुमार से संपर्क करने पर बताया कि उनके ऊपर लगाये गये आरोप बेबुनियाद हैं।


लाइन ठीक करने खंभे पर चढ़ा संविदा कर्मी करंट आने से झुलसा
 फतेहाबाद क्षेत्र के ग्राम भोलपुरा में मंगलवार 9 अक्टूबर को शाम करीब 6 बजे विद्युत पोल पर लाइट ठीक करने के लिए चढ़ा संविदा कर्मी अचानक करंट प्रवाहित हो जाने से झुलस कर घायल हो गया। मौके पर पहुंचे ग्रामीणों ने उसे अस्पताल में भर्ती कराया।
    प्राप्त जानकारी के अनुसार विद्युत संविदा कर्मी भीमसेन पुत्र खेमचंद निवासी भोलपुरा मंगलवार शाम करीब 6 बजे विद्युत पोल पर लाइन ठीक करने के लिए शटडाउन लेकर चढ़ा हुआ था। जब वह उस पर काम कर रहा था तभी लाइन में करंट प्रवाहित हो गया, जिससे वह बुरी तरह झुलस गया तथा सावधानीपूर्वक किसी तरह से नीचे आ गया। घटना की जानकारी मिलते ही ग्रामीण मौके पर पहुंच गए तथा उसे अस्पताल में भर्ती कराया।
      इस संदर्भ में उपखंड अधिकारी कुलदीप सिंह राजपूत का कहना है कि काम करते समय खंभे में करंट किस प्रकार प्रभावित हुआ इस मामले की जांच की जाएगी। तथा संविदा कर्मी अब खतरे से बाहर है।


 टूटे खम्भे में विद्युत सप्लाई से ग्रामीणों को खतरा
फतेहाबाद क्षेत्र में पिछले अप्रैल और मई माह में आए तूफान से अनेक विद्युत खम्भे टूट कर गिर गए तथा कुछ झुक कर गिरने के कगार पर हैं। ऐसे ही एक खम्भे से गुजर रही विद्युत लाईन में अभी भी करंट चालू है जिससे ग्रामीणों को जान का खतरा बना हुआ है। ग्रामीणों ने उक्त खम्भे को बदलकर नया खम्भा लगवाने की मांग की है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार फतेहाबाद के ग्राम धौर्रा में एक विद्युत खम्भा तूफान के दौरान झुक गया था ग्रामीणों ने इसकी शिकायत कई बार अधिकारियों से की। उस खम्भे में अभी भी करंट बरकरार है जो कभी भी हादसे का सबब हो सकता है।