अलीगढ़ में ससुरालियों ने विवाहिता को मारकर फांसी पर लटकाया

हरदुआगंज, अलीगढ़, उत्तर प्रदेश (Harduaganj, Aligarh, Uttar Pradesh),एकलव्य मानव सन्देश (Eklavya Manav Sandesh) ब्यूरो रिपोर्ट, 5 अक्टूबर 2018। अलीगढ़ जनपद के थाना हरदुआगंज क्षेत्र के ग्राम दाउदपुर में एक विवाहिता को मारकर फांसी पर लटकाने का मामला सामने आया है। मृतक के परिजनों का कहना है कि बीती रात 10 बजे मृतक ज्योति कश्यप पुत्री किसन कुमार कश्यप के पति ने फोन किया था कि ज्योति पीहर आने की जिद करके कह रही है को मुझे मेरे पापा के घर घुमा लाओ। लेकिन जब आज 5 अक्टूबर को सुबह परिजनों को ज्योति के फांसी लगाकर मरने की सूचना मिली तो वे लोग गांव पहुंचे और सूचना पुलिस थाना हरदुआगंज को दी। पुलिस ने लास को फांसी के फंदे से उतार कर पंचनामा भरकर पोस्ट मार्टम के लिए भेज दी। पुलिस के पहुँचने पर ससुराली जन घर से गायब मिले। 
  लास को देखकर लग रहा था कि किसी ने मारकर लटकाया है। क्योंकि मृतक के पैर जमीन छू रहे थे। और सामने प्लास्टिक का एक छोटा ड्रम रखा हुआ था।दरवाजा भी खुला हुआ था।   
       ज्योति कश्यप (22 साल) पुत्री किसन कुमार कश्यप (ग्राम कश्यप नगर, गनियावली का नगला, थाना गांधी पार्क, अलीगढ़) की शादी 3.5 साल पहले, गांव दाउदपुर, थाना हरदुआगंज, अलीगढ, पप्पू कश्यप के साथ हुई थी। इस गांव में कश्यपों का अकेला परिवार है। पप्पू गांव में ही खेती बाड़ी करता है और उसके पिता को ऑपरेटिव में सरकारी नौकरी करते हैं। पप्पू के पिता ने अपने बचाव के लिए और मुकद्दमा न दर्ज हो इसके लिये अपने गांव के लोगों के साथ परिचितों को थाना हरदुआगंज में भेजा। 
  सूचना मिलने पर निषाद पार्टी के राष्ट्रीय सचिव और एकलव्य मानव सन्देश के सम्पादक जसवन्त सिंह निषाद राष्ट्रीय निषाद एकता परिषद के जिला अध्यक्ष चंद्रभान सिंह कश्यप के साथ थाना हरदुआगंज पहुंचे और पुलिस को कहा कि किसी दबाब में परिजनों की रिपोर्ट को न रोका जाय और हत्या के इस केस में कोई ढिलाई न बरतें। 
      मृतक ज्योती कश्यप ने अपने पीछे एक बेटा 8 माह का और बेटी 2 साल की को बिलखते छोड़ा हा। पति दारू का आदि बताया गया है और ससुराल से पैसे के लिए हमेशा पत्नी पर दबाब बनाता रहता था। 

Comments

हमारे प्रयास को अपना योगदान देकर और मजबूत करें

हमरी एंड्रॉइड ऐप मुफ्त में डाउनलोड करें

हमारे चैनल की मुफ्त में सदस्यता लें

हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें

निषाद पार्टी न्यूज़

न्यूज़ वीडियो

निषाद इतिहास