चौपन चेयरमैन हत्याकाण्ड का खुलासा, 6 किये गिरफ्तार, 7 अभी भी फरार

सोनभद्र, उत्तर प्रदेश (Sonbhadra, Uttar Pradesh), एकलव्य मानव सन्देश (Eklavya Manav Sandesh) ब्यूरो चीफ राम विलास निषाद की रिपोर्ट, 2 नवम्बर 2018। चौपन चेयरमैन हत्याकाण्ड का खुलासा, 6 किये गिरफ्तार, 7 अभी भी फरार।
    पुलिस की जाँच में पाया गया कि कुछ महीनों पहले रिंकू भारद्वाज को आशनाई के चलते इम्तियाज समर्थकों द्वारा मारा पिटा गया था, जिससे रिंकू इम्तियाज से रंजिश मानने लगा था। लेकिन जब राकेश ने रिंकू से इम्तियाज को रास्ते से हटाने बाबतसंपर्क किया तो रिंकू को बदला लेने का मौका मिल गया और इस षड्यंत्र में उसने अपने दोस्त सूरज पासवान, प्रित नगर चोपन को पैसे का लालच देकर मिला लिया गया। सूरज पासवान ने घटना कराने के लिए बिहार और झारखंड के अपराधियों से संपर्क कर उनको घटना अंजाम देने की जिम्मेदारी दी और 12 लाख रूपये में पूरी डील हुई। इस हत्या का षड्यंत्र विगत सितम्बर महीने में कोलकाता में रचा गया।
     पुलिस अधीक्षक किरीट राठौर ने कहा कि नगर पंचायत अध्यक्ष इम्तियाज अहमद की हत्या व्यावसायिक प्रतिद्वंदता और आपसी रंजिश के चलते हुई। पुलिस अधीक्षक किरीट राठौर ने पत्रकार वार्ता के दौरान हत्या का खुलासा करते हुए कहा कि राकेश जायसवाल पुत्र कैलाश चंद्र निवासी बिल्ली मारकुंडी, ओबरा एवं रवि जालान पुत्र निरंजन जालान निवासी रॉबर्ट्सगंज तथा इम्तियाज अहमद पार्टनरशिप में काफी समय से जनपद में खनन का व्यवसाय कर रहे थे। कुछ समय पूर्व आपसी मतभेद के कारण ये आपसी पार्टनरशिप छोड़कर अलग हो गए। वर्तमान में हुए ई-टेंडरिंग में खनन का कार्य इम्तियाज अहमद को मिलने के वजह से राकेश जायसवाल बहुत नाराज हुए और इसके लिए माननीय उच्च न्यायालय में इस टेंडर को निरस्त कराने के लिए पीआईएल दाखिल की गई। लेकिन माननीय उच्च न्यायालय ने उस पीआईएल को खारिज कर दिया। टेंडर न मिलने की संभावना देखते हुए राकेश जायसवाल द्वारा इम्तियाज अहमद को रास्ते से हटाने का षड्यंत्र रचा गया, जिसमें राकेश जायसवाल ने रिंकू भारद्वाज, धर्मेंद्र कुमार एवं सूरज पासवान की मदद ली। सूरज पासवान, अरविंद केशरी, धर्मेंद्र कुमार, पवन चौहान आदि को शामिल कर स्थानीय अपराधियों रवि गुप्ता और कृष्णा सिंह को भी सम्मिलित किया गया।
    पुलिस ने घटना के अनावरण के लिए तीन टीमों का गठन किया था जिसमें थाना प्रभारी चोपन, अनपरा, हाथीनाला, स्वाट, सर्विलांस और अभिसूचना इकाई को सम्मिलित किया गया। पुलिस ने एक अपराधी कश्मीर पासवान उर्फ राकेश पुत्र विनय पासवान निवासी चकनार, जपला पलामू झारखण्ड को घटना स्थल से गिरफ्तार कर लिया था और पांच अभियुक्तों धर्मेंद्र कुमार पुत्र रमेश कश्यप निवासी नगर उटारी, रवि गुप्ता पुत्र मुन्ना लाल निवासी प्रीत नगर चोपन, पवन चौहान पुत्र वीरेंद्र कुमार निवासी प्रीत नगर चोपन, कृष्णा सिंह पुत्र स्व. मान सिंह निवासी प्रित नगर चोपन और अरविंद केशरी पुत्र स्व. रामचंद्र केशरी निवासी चोपन रोड ओबरा को गिरफ्तार कर चुकी है जबकि रिंकू भारद्वाज उर्फ चंद्र प्रकाश पुत्र चंद्रशेखर निवासी गौरव नगर चोपन, अखिलेश कुमार पुत्र दुदेश्वर निवासी मझियावां, संतोष पासवान पुत्र विजय पासवान निवासी कुर्मी पोखरा, दोनों नबिंनगर बिहार, शशि चंद्रवंशी निवासी बारुन झारखण्ड, सूरज पासवान पुत्र स्व. राजकुमार निवासी हनुमान मंदिर प्रितनगर चोपन, राकेश जायसवाल निवासी चोपन और रवि जालान निवासी रॉबर्ट्सगंज अभी भी फरार हैं और सभी पर पुलिस ने इनाम भी घोषित कर दिया है।
      गिरफ्तार लोगों की निशानदेही पर घटना में प्रयुक्त 1 कार्बाइन मय मैगजीन, 1 तवेरा, 3 बाइक भी बरामद की गई हैं।
     सोनभद्र जनपद की सनसनीखेज हत्याकाण्ड का पुलिस ने पर्दाफाश कर दिया है। खनन व्यवसाय और आपसी रंजिस में हुई थी नगर पंचायत अध्यक्ष की हत्या। विगत 25 अक्टूबर की सुबह कुछ अज्ञात बदमाशों ने गोली मारकर की थी चोपन नगर पंचायत अध्यक्ष और खनन व्यवसायी इम्तियाज अहमद की हत्या। इस हत्याकाण्ड से पूरे जनपद में मच गया था हड़कम्प।
      सभी राजनीतिक दलों ने की थी हत्या की निंदा। पुलिस के ऊपर था खुलासे का भारी दबाव। आज पुलिस ने उठाया सभी मामलों से पर्दा। हत्या के मामले में पुलिस ने 6 लोगों को किया गिरफ्तार, जबकि 7 अभी भी हैं फरार।