चित्रकूट के जिला अस्पताल में गंदगी से सभी बेहाल

चित्रकूट, उत्तर प्रदेश (Chitrakoot, Uttar Pradesh), एकलव्य मानव संदेश रिपोर्टर राज बहादुर सिंह निषाद की रिपोर्ट, 28 नवम्बर 2018। जिला अस्पताल की हालत बद से बदतर हो गई है। जहाँ भीषण गन्दगी से मरीजों व तीमारदारों का बुरा हाल है। वहीं जिला अस्पताल निरक्षण को आयी महिला आयोग की सदस्य व पुलिस कर्मियों को नाक में रूमाल लगाये हुए देखा गया। जिससे जिला अस्पताल की सफाई का अन्दाजा लगाया जा सकता है। और स्वच्छ भारत मिशन जुमला व दिखावा के अलावा कुछ भी नहीं है।
     आयोग की सदस्या से कार्रवाई के विषय पर सवाल पूछने पर असमर्थता व्यक्त करते हुए अपनी रिपोर्ट रीता बहुगुणा जोशी को सौपने की बात कही और बार बार मुख्य अधीक्षक को सफाई दुरस्त के लिए निर्देश देती रही। जिस शासन में अधिकारी व जनसेवक की ही बात को गम्भीरता से नहीं लेते हैं। इससे आम आदमी की हालत का अंदाजा लगाया जा सकता है।
     सदर एसडीएम ने बार बार शिकायत मिलने पर कि, डाक्टरो द्वारा मोटी कमाई के लिए मरीजों को बाहर की दवाई लिखी जा रही है, इस पर मौके पर एसडीएम महोदय ने डाक्टर श्वेता मिस्रा के कई पर्चा पकडकर शासन को भेजे हैं।