अनियन्त्रित बस ने लखनऊ आगरा एक्प्रेस वे पर मचाया कोहराम

फतेहाबाद, आगरा, उत्तर प्रदेश (Fatehabad, Agra, Uttar Pradesh), एकलव्य मानव संदेश (Eklavya Manav Sandesh) रिपोर्टर संजय सिंह निषाद की रिपोर्ट, 25 नवम्बर 2018। फतेहाबाद में आगरा लखनऊ एक्सप्रेस वे पर हुआ भयंकर हादसा। टोल का बैरियर तोड़ पुलिस वैन से टकराई अनियंत्रित बस, 10 वर्षीय बालक सहित 2 लोगों की मौत। 24 नवम्बर को आगरा के फतेहाबाद फतेहाबाद थाना क्षेत्र के आगरा लखनऊ एक्सप्रेस वे के टोल प्लाजा पर उस समय चीखपुकार मच गई जब पर्यटकों से सवार टूरिस्ट बस अनियंत्रित होकर टोल प्लाजा के बैरियर को तोड़ते हुए कई लोगों को रौंदती हुई पुलिस की वैन से जा टकराई। पुलिस वैन से बस के टकराने से वैन पलट गई और पुलिस कर्मियों में हड़कंप मच गया।
     टक्कर इतनी तेज थी कि पुलिस वैन आगे से पूरी क्षतिग्रस्त हो गयी तो पुलिस कर्मियों के हथियारों को भी नुकसान पहुँचा। इस हादसे में कई लोग गंभीर रूप से घायल हुए है तथा 13 वर्षीय फूल बेचने वाले निषाद बालक सहित 2 लोगों की मौत हो गयी। हादसे को देखकर लोगो ने बस की ओर दौड़ लगाई और हादसे की जानकारी पुलिस को भी दी।
     इस हादसे की जानकारी होते ही क्षेत्रीय पुलिस मौके पर पहुँच गयी और बचाव कार्य शुरु कर दिया। पुलिस ने घायलों को इलाज के लिए तुरंत आगरा के एसएन अस्पताल पहुँचाया जहाँ घायल पर्यटकों का इलाज चल रहा है। मोके पर मौजूद प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि बस लखनऊ की ओर से आ रही थी जो अचानक अनियंत्रित हुई और टोल कर्मियी को रौंदती हुई पुलिस वैन से टकरा गई। इस पूरे हादसे में आधा दर्जन लोग घायल हो गए तथा कुछ लोगो की मौत हो गयी। इस हादसे में टोल प्लाजा पर फूल बेच रहा एक 13 वर्षीय किशोर भी चपेट में आ गया जिसकी अस्पताल ले जाते समय रास्ते में ही मौत हो गयी। इस घटना से गुस्साए ग्रामीणों ने टोल प्लाजा पर जाम लगा दिया। मोके पर पहुँचे एसडीएम देवेंद्र प्रताप सिंह ने लोगो को समझा बुझा कर जाम खुलवाया औऱ मृतक के परिजनों को मुआवजा दिलवाने का अस्वासन भी दिया। व‌हीं एडीएम सिटी केपी सिंह तथा एसपीआरए ‌पश्चिमी अखिलेश नरायण सिंह पुलिस के आलाधिकरियो के साथ घायलों को देखने के लिए अस्पताल पहुँचे और उनसे पूछताछ की, साथ ही उन्हें बेहतर इलाज देने के निर्देश दिए।
     एडीएम सिटी केपी सिंह ने बताया कि पर्यटकों से भरी बस का टोल प्लाजा के पास टायर फट गया और बस अनियंत्रित होकर टॉल कर्मियों को रौंदती हुई एस्कॉर्ट के लिए खड़ी पुलिस वैन से जा टकराई। इस घटना में दो लोगो की मौत हो गयी तथा 6 लोग घायल हो गये।
    शनिवार सुबह करीब 8.40 बजे मुजफ्फरपुर बिहार से चलकर नई दिल्ली जा रही एक टूरिस्ट बस संख्या यूपी 83 बीटी 5576 का आगरा लखनऊ एक्सप्रेस वे के फतेहाबाद थाना क्षेत्र के टोलप्लाजा से करीब 50 मीटर पहले टायर फट गया तथा बस अनियंत्रित हो गयी तथा टोल बैरियर को तोडती हुई निकल गयी। जिससे बस की चपेट में टोल बैरियर पर मौजूद टोलकर्मी अमरकांत पचौरी उम्र 24 वर्ष पुुत्र संजय पचौरी निवासी बाग अमरूद सादाबाद, 2 टोलगार्ड सत्यवीर तथा कुशलपाल निवासी फतेहाबाद तथा टोल पर ही फूल बेच रहा सोनू निषाद पुत्र रामनिवास निषाद, निवासी लोहिया उझावली को रोंदती हुई आगरा पुलिस की एस्कोर्ड जिप्सी संख्या युपी 80 एजी 0418 से जा टकरायी जिससे जिप्सी में बैठे सिपाही इम्तियाज खान घायल हो गये। बस जिप्सी को रोंदती हुई आगे खडे ट्रोला से जा टकरायी जिससे जिप्सी पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गयी। तत्काल सभी घायलों को अस्पताल भिजवाया गया। जहां अमरकांत पचौरी तथा सोनू की मौत हो गयी। बाकी घायलों को निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया।         बस का चालक बस को छोडकर भाग गया। वहीं दुर्घटना के तुरंत बाद बस में बैठी सवारियों में अफरा तफरी मच गयी। बस में बैठी खुशबू, मंजरी भी चोटिल हो गयी। बस में ही बैठे चकिया बिहार निवासी दुुर्गाकुमार यादव पुत्र नरसिम्ह यादव को फतेहाबाद के आरएस अस्पताल में भर्ती कराया गया।  कुछ घायलों को शिकोहाबाद सीएचसी पर भी भेजा गया।
हदसे की सूचना पर ग्रामीणों ने एक्सप्रेस वे जाम कर दिया। एक्सप्रेस वे पर बस की दुर्घटना के बाद 6-7 लोगों के मरने की अफवाह तैर गयी। क्योंकि एक्सप्रेस वे पर आस पास के गांव के लोग ही गार्ड के रूप में तैनात है। ऐसी स्थि‌ति में तत्काल ग्रामीण बडी संख्या में एक्सप्रेस वे पर जमा हो गये और एक्सप्रेस वे को जाम कर दिया। मौके पर पहुंचे एसडीएम फतेहाबाद देवेंद्र प्रताप सिं‌ह तथा इंस्पैक्टर बृजेश कुमार ने ग्रामीणों को समझाया परन्तु ग्रामीण नहीं माने तथा आधे घंटे तक एक्सप्रेस वे पर दोनों ओर सैकडों की संख्या में वाहन इकठ्ठे हो गये। बाद में एसडीएम द्वारा मृतकों के ‌परिजनों को 3-3 लाख रूपये के मुआवजे की घोषणा के बाद बमुश्किल जाम खोला।
एक्सप्रेस वे जाम करने के मामले में पुलिस ने 11 नामजद, 80-90 अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर दिया है।  एक्सप्रेस वे जाम करने के मामले में पुलिस की ओर से उपनिरिक्षक निर्दोष सिंह सेंगर ने 11 नामजद ‌तथा 80-90 अज्ञात के खिलाफ सरकारी कार्य में बाधा तथा एक्सप्रेस वे जाम करने में मुकदमा दर्ज किया है। जिनमें छुन्ना पुत्र करूआ, शैलू पुत्र बालादीन, सुभाष पुत्र रामेश्वर, रामवीर पुत्र महावीर, गौरव पुत्र मुन्नालाल, शैतान सिंह पुत्र शम्भूलाल, बंशी पुत्र छीतरराम, विनोद पुत्र प्रभुदयाल, मोहित पुत्र रामदयाल निवासीगण बाबरपुर फतेहाबाद, विनोद पुत्र भगवान सिंह निवासी हिमांयुपुर फतेहाबाद, राहुल निवासी नगला लोहिया है।