मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में निषादों की रोजी रोटी पर संकट, किया प्रदर्शन

वाराणसी, उत्तर प्रदेश (Varanasi, Uttar Pradesh), एकलव्य मानव संदेश (Eklavya Manav Sandesh) ब्यूरो चीफ राम विलास निषाद की रिपोर्ट, 13 दिसम्बर 2018। मोदी सरकार, निषाद समुदाय की रोजी-रोटी को छीन कर पुंजिपतियों को दे रही है। अब नावों का संचालन पूंजीपतियों दिया जा रहा है, जिसके विरोध में नाविक निषादों ने गुरुवार को राजेन्द्र प्रसाद घाट पर घंटो धरना-प्रदर्शन किया। नाविकों का कहना था कि मोदी सरकार में 2014 से उनकी रोजी-रोटी पर लगातार छिनने काम किया जा रहा है। पुंजिपतियो ने गंगा में क्रूज तथा आधुनिक नावें चलानी शुरू कर दी हैं, जिससे नाविकों के सामने रोजी-रोटी के लाले पड़ने का भय सता ही रहा है।
      40 हजार नाविक निषादों के परिवारों को बेटी-बेटा की रोटी, शिक्षा, स्वास्थ का संकट पैदा हो गया है और भारतीय जनता पार्टी बात करती सबका साथ सबका विकास। मोदी  कहते हैं, सभी का करेंगे उत्थान ,सबका होगी उन्नति। मोदी के संसदीय क्षेत्र का हाल यह है कि नाविक निषादों से रोजगार देने के की जगह उनका रोजगार छीना जाना गलत है।
    प्रदर्शन के दौरान वीरेंद्र माझी, प्रमोदी माझी, बबलू साहनी, शम्भू साहनी समेत तमाम लोग मौजूद रहे। इस दौरान नाविकों ने अपना नौका संचालन भी ठप कर दिया।