नई दिल्ली (New Delhi), एकलव्य मानव संदेश (Eklavya Manav Sandesh) ब्यूरो रिपोर्ट, 17 दिसम्बर 2019। सांसद विशम्भर प्रसाद निषाद जी ने राज्यसभा में शीतकालीन सत्र के दौरान एक प्रश्न के माध्यम से पूछा कि निषाद, कश्यप, बिन्द, राजभर, प्रजापति आदि को भारत के अन्य प्रदेशों की तरह अनुसूचित जाति का आरक्षण देने के लिए क्या कर रही है। इस पर भाजपा की मोदी सरकार ने लिखित में राज्यसभा में एक प्रश्न के उत्तर में बताया निषाद, कश्यप, बिन्द आदि को आरक्षण देने का कोई प्रस्ताव नहीं है यह जबाब केंद्रीय सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय के मंत्री थावरचंद गेहलोत ने लिखित में दिया है।
    यह जबाब उन नेताओं के लिए एक करारा जबाब है, जो भाजपा के साथ हैं और कह रहे हैं कि भाजपा के मोदी, अमित शाह और जेपी नड्डा से निषाद आरक्षण पर बात हो गई है। और अपनी रोटी सैंकर समाज को गुमराह करने में लगे हुए हैं। विगत संसद सत्र के दौरान मा. विशम्भर प्रसाद निषाद जी ने निषाद आदि के आरक्षण के लिए कई बार सरकार को राज्य सभा मे घेरा। लेकिन निषाद आरक्षण पर बनी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष के सांसद बेटे ने शीतकालीन सत्र के दौरान एक बार भी निषाद SC आरक्षण पर एक शब्द भी नहीं बोला।
(वीडियो भी देखें https://youtu.be/1doDa8zt9X4)