मोदी है, तो सब कुछ मुमकिन है ??

अलीगढ़, उत्तर प्रदेश (Aligarh, Uttar Pradesh), एकलव्य मानव संदेश (Eklavya Manav Sandesh) सोशल मीडिया ब्यूरो रिपोर्ट, 11 मार्च 2019।
वैचारिक आंदोलन
भाजपा ने 2019 के लिए नारा दिया है
मोदी है, तो सब कुछ मुमकिन है।
क्या-क्या मुमकिन है-
देश के संविधान से छेड़छाड़
राष्ट्रीय ध्वज से छेड़छाड़
भारतीय प्रतीकों से छेड़छाड़
न्यायिक प्रक्रिया से छेड़छाड़
चुनाव आयोग से छेड़छाड़
आरबीआई से छेड़छाड़
सीबीआई से छेड़छाड़
रक्षा सौदों की फाइलों से छेड़छाड़
सरकारी सम्पत्तियों से छेड़छाड़
सरकारी दस्तावेजों से छेड़छाड़
देश की विकास दर से छेड़छाड़
विकास के आंकडों से छेड़छाड़
गरीबी के आंकड़ों से छेड़छाड़
महंगाई के आंकड़ों से छेड़छाड़
बेरोजगारी के आंकड़ों से छेड़छाड़
सरकारी नौकरियों से छेड़छाड़
एससी-एसटी-ओबीसी के आरक्षण से छेड़छाड़
एससी-एसटी-ओबीसी की भर्तियों से छेड़छाड़
एससी-एसटी-ओबीसी की जातियों से छेड़छाड़
एससी-एसटी -ओबीसी की नौकरियों से छेड़छाड़
एससी-एसटी -ओबीसी के भर्ती रोस्टर से छेड़छाड़
एससी-एसटी -ओबीसी के पदोन्नति रोस्टर से छेड़छाड़
एससी-एसटी -ओबीसी के कानून से छेड़छाड़
एससी-एसटी -ओबीसी की छात्रवृत्ति से छेड़छाड़
एससी-एसटी-ओबीसी के मेडिकल में प्रवेश से छेड़छाड़
एससी-एसटी-ओबीसी के इंजीनियरिंग में प्रवेश से छेड़छाड़
एससी-एसटी-ओबीसी की मेरिट से छेड़छाड़
ओबीसी के आरक्षण से छेड़छाड़
ओबीसी की भर्तियों से छेड़छाड़
ओबीसी की मेरिट से छेड़छाड़
आदिवासियों के अधिकारों से छेड़छाड़
आदिवासियों की जमीनों से छेड़छाड़
आदिवासियों के आवासों से छेड़छाड़
महिलाओं के अधिकारों से छेड़छाड़
धार्मिक भावनाओं से छेड़छाड़
साम्प्रदायिक सौहार्द से छेड़छाड़
सामाजिक सौहार्द से छेड़छाड़
और अंत में
सबसे ज्यादा ईवीएम से छेड़छाड़
बाकी तो आप खुद भी समझदार हैं
कि
*"मोदी है, तो छेड़छाड़ तो मुमकिन है ही।"*
उक्त सभी छेड़छाड़ अभी छोटे स्तर पर 2014-19 के कार्यकाल में हो चुकी हैं,
बस अब बड़े स्तर पर होना बाकी है।
सनद रहे कि आगामी समय में बड़े स्तर की "छेड़छाड़" के लिए जनता खुद जिम्मेदार होगी।
📚संविधान बचाओं। देश बचाओं🇮🇳।।

Comments

हमारे प्रयास को अपना योगदान देकर और मजबूत करें

हमरी एंड्रॉइड ऐप मुफ्त में डाउनलोड करें

हमारे चैनल की मुफ्त में सदस्यता लें

हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें

निषाद पार्टी न्यूज़

न्यूज़ वीडियो

निषाद इतिहास